जीवाणुओं में प्रजनन

जीवाणुओं में प्रजनन

Reproduction in Bacteria In Hindi (जीवाणुओं में प्रजनन)

  • प्रजनन (Reproduction) : जीवाणुओं में प्रजनन निम्नलिखित विधियों द्वारा होता है–

1. अलैंगिक जनन (Asexual reproduction) :

  • जीवाणुओं में अलैंगिक जनन द्विविभाजन (Binary fission) द्वारा, कोनिडिया (Conidia) द्वारा एवं अन्तःबीजाणु (Endospores) द्वारा होता है। द्विविभाजन प्रक्रिया में एक जीवाणु कोशिका समान प्रकार की दो संतति कोशिकाओं (Daughter cells) में विभाजित हो जाती है। यदि तापक्रम, नमी, खाद्य पदार्थों की उपलब्धता आदि जीवाणुओं के लिए अनुकूल हों, तो मात्र 6 घंटे में एक जीवाणु कोशिका से 10 लाख तक जीवाणु बन सकते हैं। अधिकांश खाद्य पदार्थों के खराब होने का कारण उनमें उपस्थित जीवाणुओं का तेजी से प्रजनन करना है। कुछ जीवाणुओं में प्रतिकूल परिस्थितियों में दृढ़ भित्तिवाली अत्यन्त रोधी संरचनाएँ बनती हैं जिसे अन्तःबीजाणु (Endospores) कहते हैं। अनेक जीव वैज्ञानिक अन्तः बीजाणु को उत्तरजीविता का साधन मानते हैं न कि प्रजनन का। अनुकूल परिस्थितियाँ होने पर अन्तःबीजाणु से कोशिका बाहर निकल जाती है और वृद्धि करने लगती है।

2. लैंगिक प्रजनन (Sexual reproduction) :

  • जीवाणुओं में न तो युग्मक (Xygote) का निर्माण होता है और न ही निषेचन (Fertilization) होता है। इनमें केवल आनुवंशिक पदार्थों का आदान-प्रदान होता है। इसे आनुवंशिक पुनर्योजन (Genetic recombination) कहते हैं। जीवाणुओं में आनुवंशिक पुनर्योजन तीन विधियों से होता है। ये हैं–
    (i) संयुग्मन (Conjugation) : इस विधि की खोज लेडरबर्ग (Lederberg) तथा टेटम (Tatum) ने 1946 ई० में की थी। इस प्रकार के लैंगिक जनन में दो कोशिकाओं का मिलन और DNA का स्थानांतरण होता है।
    (ii) जीन-वाहन (Transduction): जीवाणुओं में होने वाले इस प्रकार के लैंगिक जनन की विधि की खोज जिन्डर (Zinder) एवं लेडरबर्ग (Lederberg) ने 1952 में की थी। इस विधि में एक विषाणु (Virus) द्वारा एक जीवाणु का DNA दूसरे जीवाणु के DNA से मिल जाता है।
    (iii) रूपान्तरण (Transformation) : जीवाणुओं में होनेवाली लैंगिक प्रजनन की विधि की खोज ग्रिफिथ (Griffith) ने 1928 ई० में की थी। इस विधि में जीवाणु बाह्य माध्यम से DNA का अवशोषण करके आनुवंशिक स्वरूप परिवर्तित करता है।

जीवाणुओं में प्रजनन FAQs-

जीवाणु में प्रजनन कैसे होता है?

  • बैक्टीरिया प्रमुख रूप से कोशिका विभाजन द्वारा प्रजनन करते हैं। कभी-कभी, विपरीत परिस्थितियों में ये बीजाणु बनाते हैं। ये लैंगिक प्रजनन भी करते हैं, जिनमें एक बैक्टीरिया से दूसरे बैक्टीरिया में डीएनए का पुरातन स्थानांतरण होता है।

बैक्टीरिया में कौन सा प्रजनन होता है?

  • बैक्टीरिया में साधारणतः कायिक जनन होता है

इने भी जरूर पढ़े – 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Leave A Comment For Any Doubt And Question :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *