सामान्य जानकारी – भारत के उपराष्ट्रपति

सामान्य जानकारी - भारत के उपराष्ट्रपति ,

सामान्य जानकारी – भारत के उपराष्ट्रपति 

  • संविधान के अनु. 63 के अनुसार भारत का एक उपराष्ट्रपति होगा। (कार्यकाल 5 वर्ष)
  • संविधान में उपराष्ट्रपति से संबंधित प्रावधान अमेरिका के संविधान से ग्रहण किया गया है।
  • भारत का उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति होता है। (अनु. 64)
  • उपराष्ट्रपति राज्यसभा का सदस्य नही होता है, अतः इसे मतदान का अधिकार नहीं है, किन्तु सभापति के रूप में निर्णायक मत देने का अधिकार उसे प्राप्त है।

इने भी जरूर पढ़े – 

भारतीय राजव्यवस्था ( Indian Polity ) 

भारत के उपराष्ट्रपति की योग्यता- 

  • कोई भी व्यक्ति उपराष्ट्रपति निर्वाचित होने योग्य तब होगा, जब वह–
    1. भारत का नागरिक हो।
    2. 35 वर्ष की आयु पूरी कर चुका हो।
    3. राज्यसभा का सदस्य निर्वाचित किये जाने योग्य हो।
    4. निर्वाचन के समय लाभ का पद पर नही हों।
    5. वह संसद के किसी सदन या राज्य के विधानमंडल के किसी सदन का सदस्य नही हो सकता है और यदि ऐसा व्यक्ति उपराष्ट्रपति निर्वाचित हो जाता है, तो उसे अपने पूर्ववर्ती पद से इस्तीफा देना होगा।

उपराष्ट्रपति की निर्वाचन विधिः-

  • उपराष्ट्रपति का चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके से, आनुपातिक प्रतिनिधित्व की एकल संक्रमणीय पद्धति द्वारा होता हैं तथा लोकसभा एवं राज्यसभा के सभी सदस्य इसमें भाग लेते हैं।
  • कार्यकाल – 5 वर्ष (पद ग्रहण की तिथि से)
  • शपथ – राष्ट्रपति के द्वारा दिलायी जाती हैं।
  • इस्तीफा – राष्ट्रपति को।
  • वेतन – 4 लाख रूपए मासिक।

उपराष्ट्रपति के कार्य

  • राज्यसभा का सभापतित्व करना।
  • राष्ट्रपति की अनुपस्थिति में कार्यवाहक राष्ट्रपति कार्य करना।

नोट :- राष्ट्रपति के पद खाली रहने पर उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति की हैसियत से कार्य करता है। उपराष्ट्रपति को राष्ट्रपति के रूप में कार्य करने की अधिकतम अवधि 6 महिने होती है। इस दौरान राष्ट्रपति का चुनाव करा लेना अनिवार्य होता है। राष्ट्रपति के रूप में कार्य करते समय उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति को मिलने वाली वेतन तथा अन्य सभी सुविधाओं का उपभोग करता है।

भारत के उपराष्ट्रपति

क्र.सं. नाम कार्यकाल 
1. डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन् 1952-1962 (दो कार्यकाल)
2. डॉ. जाकिर हुसैन 1962-1967
3. बी.वी. गिरी 1967-1969
4. गोपाल स्वरूप पाठक 1969-1974
5. बी.डी. जत्ती 1974-1979
6. एम. हिदायतुल्ला 1979-1984
7. आर. वेंकटरमण 1984-1987
8. डॉ. शंकर दयाल शर्मा 1987-1992
9. K.r.नारायणन 1992-1997
10. डॉ. कृष्णकांत 1997-2002
11. भैरोसिंह शेखावत 2002-2007
12. हामिद अंसारी 2007 से 2017 (दो कार्यकाल)
13. वैकया नायडु 2017 से लगातार

इने भी जरूर पढ़े – 

 

Leave a Reply