Biology

जीव विज्ञान से जुड़े Top 40 प्रश्न

जीव विज्ञान से जुड़े Top 40 प्रश्न इने भी जरूर पढ़े – Reasoning Notes And Test  सभी राज्यों का परिचय हिंदी में। राजस्थान सामान्य ज्ञान ( Rajasthan Gk ) Solved Previous Year Papers History Notes In Hindi 1.: – मांसपेशियों में किस अम्ल के एकत्रित होने से थकावट आती है? Ans : – लैक्टिक अम्ल …

पारिस्थितिक तंत्र (Ecosystem)

पारिस्थितिक तंत्र (Ecosystem) पर्यावरण का वह अंग पारिस्थितिक तंत्र कहलाता है जहाँ जीव आपस में तथा अपने आस-पास के भौतिक पर्यावरण से क्रिया-प्रतिक्रिया करते रहते हैं। पारिस्थितिक तंत्र जैव भार (Biomass) का सर्जक होता है। एक स्थान या क्षेत्र प्रदेश में जीव, पर्यावरण से सामंजस्य बनाकर जीवित रहते हैं और वंशवृद्धि करते रहते। पारिस्थितिक तंत्र …

जैव विविधता एवं इसका संरक्षण

जैव विविधता एवं इसका संरक्षण (Biodiversity And Its Conservation) पारिभाषा एवं महत्त्व (Definition and Importance) पृथ्वी का जैवमण्डल एक वृहद पारिस्थितिक तंत्र है। इसमें अनेक पारिस्थितिक तंत्र एवं वास स्थान (Habitat) है। पृथ्वी पर विभिन्न प्रकार के पौधों, पशुओं, कीटों एवं सूक्ष्म जीवों का वास है जैविक विविधता जीन्स, जातियों एवं पारिरतन्त्रों की भिन्नता से …

आनुवंशिकी (Genetics)

आनुवंशिकी (Genetics) All Types Gk PDF = Click Here To Download जीव विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत प्राणियों की आनुवंशिक भिन्नता, समानता, परिवर्धन, और विकास का अध्ययन किया जाता है। आनुवांशिकी (Genetics) कहलाता है। आनुवांशिकी का महत्व लैंगिक प्रजनन करने वाले जीवों में ही होता है, क्योंकि इन जीवों द्वारा उत्पन्न होने वाली संतति …

एनीमेलिया जगत (Kingdom Anemalia)

एनीमेलिया जगत (Kingdom Anemalia) All Types Gk PDF = Click Here To Download एनीमेलिया बहुत ही बड़ा जगत है। इस वर्ग में बहुकोशिकीय, यूकैरियोटिक जीवों को रखा गया है। ये जीव प्रायः चलायमान होते हैं, और इनकी कोशिकाओं में कोशिकाभित्ती नहीं पाई जाती है। ये जीव विषमपोषी होते हैं। विषमपोषी में भी पोषण के अलग-अलग …

जैव विकास के पक्ष में कुछ प्रमाण

जैव विकास के पक्ष में कुछ प्रमाण ( Some evidence in favor of organic evolution ) (1) समजात अंग (Homologous Organs) वे अंग जिनकी मौलिक संरचना एवं उत्पत्ति समान होती हैं, उन्हें समजात अंग कहते हैं। समजात अंग विभिन्न जीवों में उनके वातावरणिक अनुकूलन के कारण विभिन्न रूपों में रूपान्तरित हो जाते हैं, और उनकी …

Organic Evolution ( jaiv vikaas kya hai )

जैव विकास (Organic Evolution) प्राणियों में व्यक्तिगत एवं जाति स्तर पर होने वाले परिवर्तनों के परिणाम स्वरूप सरल जीवों से जटिल जीवों के विकास की प्रक्रिया एवं घटना जैव विकास (Organic Evolution) कहलाता है। कोयसरवेट के रूप में जीवन की उत्पत्ति के पश्चात से अभी तक जीवन में जितनी जटिलाएं आ चुकी हैं. यह विकास …

जीवन का उद्भव एवं विकास

जीवन का उद्भव एवं विकास (The Origin and Evolution of Life) पृथ्वी की उत्पत्ति तथा पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति सहस्त्रों वर्षों से सभी के चिंतन का विषय रहा है। पश्थ्वी को उत्पत्ति के रहस्य के संदर्भ में मात्र विज्ञान ही नहीं बल्कि धर्म एवं आध्यात्म आदि भी अपनी संकल्पनाएं देते हैं। संपूर्ण ब्रह्माण्ड में …

जंतु ऊतक (Animal tissues)

जंतु ऊतक (Animal tissues) जन्तुओं के ऊतक पादपों के ऊतक से पूर्णत: भिन्न होते हैं. और इनका कार्य भी भिन्न प्रकार से होता है। जन्तुओं में कुछ कार्य पादपों से अतिरिक्त होते हैं, जैसे प्रचलन (Locomotion) तंत्रिकीय नियंत्रण (Nervous control) आदि। इनके अतिरिक्त भी पादपों तथा जन्तुओं में जो समान कार्य होते हैं, जैसे पोषण, …

पादप ऊतक (Plant tissues)

पादप ऊतक (Plant tissues) पादपों को सूक्ष्म अवलोकन करने पर हमें मालूम चलता है पादपों में वृद्धि कैसी होती है? उनमें भोजन का संग्रह कहाँ और कैसे होता है? पादप के कौन से अंग मजबूत होते हैं कौन-से नाजुक होते हैं? पादपों में शाखाएं. पत्तियाँ कहाँ से निकलती हैं? आदि। पादपों के विभिन्न अंगों में …