राजस्थान में सड़क परिवहन

Transport in Rajasthan राजस्थान में परिवहन के साधन 

( Road Transport in Rajasthan )

  • क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़े, कृषि प्रधान एवं खनिजों के अजायबघर प्रदेश राजस्थान में परिवहन के साधनों की महत्त्वपूर्ण भूमिका है। बहुमूल्य खनिज, कृषि उत्पाद आदि को परिवहन सुविधाओं की आवश्यकता होती है। परिवहन के साधनों की सुगमता एवं अधिकता राज्य के आर्थिक विकास में सहायक है। राजस्थान में सड़क परिवहन, रेल एवं वायु परिवहन तीनों सुविधाएँ उपलब्ध हैं।

1. राजस्थान में सड़क परिवहन

  • सड़क परिवहन राजस्थान के परिवहन के साधनों में सड़क परिवहन का महत्त्वपूर्ण योगदान है। सड़कों के विकास हेतु केन्द्र व राज्य क्रमशः राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अन्य सड़कों का निर्माण करते हैं। वर्तमान में सड़क निर्माण का कार्य निजी भागीदारी द्वारा BOT एवं BOOT नीति द्वारा भी किया जा रहा है।

अन्य महत्त्वपूर्ण तथ्य

N.H. की कुल लम्बाई (राज. में) 5722 किमी.
N.H. की लम्बाई का क्रम–

  • सर्वाधिक लम्बाई वाले राष्ट्रीय राजमार्ग
    N.H. 15 (874) > 8 (677) > 76 (578) > 11 (521) > 65 (495)
  • घटती हुई लम्बाई के क्रम में राष्ट्रीय राजमार्ग
    116 (78) > 11A (62) > 79A (38) > 3 (28)

राजस्थान में सड़क मार्ग

1. राष्ट्रीय राजमार्ग  5722 कि.मी.
2. राज्य राजमार्ग 11758 कि.मी.
3. जिला सड़कें 7673 कि.मी.
4. अन्य जिला सड़कें  24418 कि.मी.
5. ग्रामीण सड़कें  138239 कि.मी.
योग 187810 कि.मी.
  • जोधपुर-N.H. की सर्वाधिक लम्बाई (504 किमी.)
  • राजसमंद-– सड़क घनत्व सर्वाधिक।
  • जैसलमेर –-सड़क घनत्व सबसे कम।
  • झुंझुनूं-–इस जिले में से कोई N.H. नहीं गुजरता है।
  • राजस्थान का प्रथम एक्सप्रेस हाइवे N.H. 8 (जयपुर-किशनगढ़)
  • राजस्थान में सड़क घनत्व 54.88 प्रति 100 वर्ग किमी.।
  • राजस्थान से कुल 20 राष्ट्रीय राजमार्ग गुजरते हैं।
  • आवागमन की सुविधा हेतु 10 अक्टूबर 1964 को राजस्थान मेंपहली बस टोंक रियासत में चलाई गई।
  • सबसे लम्बा NH-15 व सबसे छोटा NH-3 है।
  • सबसे लम्बा S.H. (State Highway) 7 व सबसे छोटा SH-19 A है।

इने भी जरूर पढ़े –

Leave a Reply