Creating form in website

फॉर्म क्रिएट करना Creating Form)

  • नमस्कार दोस्तों
    आप सब का स्वागत है examsector.com में। दोस्तों इस पोस्ट की मदद से मे आपको Creating form in website के बारे में बताऊंगा। कि वेबसाइट में contact फॉर्म कैसे बनाया जाता है। . इन सब के बारे में इस पोस्ट की साहयता से में आप सब को बताऊंगा।
  • किसी वेब पेज पर फॉर्म का प्रयोग ग्राफिकल यूज़र इण्टरफेस क्रिएट करने के लिए किया जाता है, ताकि यूज़र से रेस्पॉन्स (Response) प्राप्त किया जा सके। फॉर्म पर ग्राफिक्स इण्टरफेस क्रिएट करने के लिए विभिन्न ग्राफिकल एलिमेण्ट्स; जैसे-टेक्स्टबॉक्स, चेकबॉक्स, बटन आदि का प्रयोग किया जाता है। यूज़र द्वारा रेस्पॉन्स (Response) के लिए सूचना को फॉर्म में प्रविष्ट (Fill) करने के बाद, उन्हें स्क्रिप्ट (Script) द्वारा प्रोसेस किया जाता है।
  • फॉर्म में यूजर द्वारा फिल की गई सूचना को प्रोसेस करने के लिए स्क्रिप्ट लैंग्वेज; जैसे- जावास्क्रिप्ट (JavaScript), VB Script, C# आदि में प्रोग्राम लिखा जाता है। वेब पेज पर फॉर्म क्रिएट करने के लिए HTML में form एलिमेण्ट का प्रयोग किया जाता है। form एलिमेण्ट का भी एक ओपनिंग टैग <form> और एक क्लोजिंग टैग </form> होता है।
  • इन टैग्स के मध्य फॉर्म के अन्य एलिमेण्ट्स अर्थात् कन्टेन्ट्स को लिखा जाता है।
  • प्रारूप <form action = “URL” method = “Method type”>; Contents of Form</form>
  • फॉर्म को नेस्टिग (Neeting) नहीं की जा सकती है अर्थात् एक फॉर्म के अन्दर किसी दूसरे फॉर्म को परिभाषित नहीं किया जा सकता है। परन्तु किसी फॉर्म के अन्दर अन्य एलिमेण्ट्स जैसे- लिस्ट, टेक्स्टबॉक्स, चेकबॉक्स, ऑप्शन बॉक्स इत्यादि को परिभाषित किया जा सकता है। form एलिमेण्ट का action एट्रिब्यूट प्रोग्राम/स्क्रिप्ट के URL (यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटर) अर्थात् वेब एड्रेस को निर्दिष्ट करता है, जो फॉर्म के कन्टेन्स को प्रोसेस करने के लिए स्वीकार करता है।
  • यदि form एलिमेण्ट के साथ action एट्रिब्यूट को निर्दिष्ट नहीं किया जाता है, तो ब्राउज़र द्वारा स्वतः फॉर्म के Base URL का प्रयोग कर लिया। जाता है। Base URL वह URL होता है, जिस पर फॉर्म स्टोर होता है। फॉर्म handle किए जाने वाले प्रोटोकॉल के प्रकार का प्रयोग एक्शन प्रोग्राम या स्क्रिप्ट को प्रोसेसिंग (Processing) में किया जाता है, प्रोटोकॉल के प्रकार का निर्धारण करने के लिए method एट्रिब्यूट का प्रयोग किया जाता है।
  • इस एट्रिब्यूट का मान get और post में से कोई एक हो सकता है। जिन फॉम्र्स में डेटा को परिवर्तित नहीं किया जाता है, जैसे किसी डेटाबेस क्वेरी से प्रपिट (Fil) किया गया फॉर्म, उन GET मैथड और इसके ठीक विपरीत, जिन फॉम्र्स में डेटा मान परिवर्तित होता है, उनमें post मैथडे का प्रयोग किया जाता है।

फॉम्र्स से सम्बन्धित अन्य एलिमेण्ट्स निम्नलिखित हैं

1. input एलिमेण्ट

  • input एलिमेण्ट का प्रयोग फॉर्म में यूज़र से डेटा इनपुट कराने के लिए किया जाता है। input एलिमेण्ट का प्रयोग करके फॉर्म पर विभिन्न प्रकार के ग्राफिकल इण्टरफेस के फीचर्स; जैसे- रेडियो बटन, टेक्स्टबॉक्स, चेकबॉक्स, पुल-डाउन मेन्यू इत्यादि क्रिएट किए जा सकते हैं, जिनमें यूज़र डेटा को इनपुट कर सकता है।

input एलिमेण्ट के एट्रिब्यूट्स निम्नलिखित हैं

  1.  align इस एट्रिब्यूट का प्रयोग केवल इमेज के साथ किया जा सकता है। align एट्रिब्यूट का मान top, bottom अथवा middle हो सकता है। यह एट्रिब्यूट इमेज के साथ टेक्स्ट के सम्बन्ध अर्थात् एलाइनमेण्ट को परिभाषित करता है।
  2. checked इस एट्रिब्यूट का प्रयोग चेकबॉक्स अथवा रेडियो बटन के साथ किया जाता है। यह एट्रिब्यूट, चेकबॉक्स अथवा रेडियो बटन की प्रारम्भिक अवस्था को सलेक्ट करता है।
  3. maxlength यह एट्रिब्यूट, यूज़र द्वारा टेक्स्ट फील्ड में प्रविष्ट किए जाने वाले कैरेक्टर्स की संख्या को निर्धारित करता है।
  4.  name इस एट्रिब्यूट का प्रयोग input एलिमेण्ट को एक नाम देने अर्थात् आइडेन्टिफायर में एसाइन करने के लिए किया जाता है।
  5. size यह टेक्स्ट फील्ड के साइज़ को निर्धारित करता है।
  6.  src इसका प्रयोग image एलिमेण्ट हेतु सोर्स फाइल को निर्धारित करने के लिए किया जाता है।
  7.  text इसका प्रयोग एक लाइन का टेक्स्टबॉक्स क्रिएट करने के लिए किया जाता है। एक-से-अधिक लाइनों का टेक्स्ट क्रिएट करने के लिए textarea का प्रयोग किया जाता है।
  8.  type इसका प्रयोग फॉर्म पर क्रिएट किए जाने वाले इनपुट फील्ड के प्रकार को निर्दिष्ट करने के लिए किया जाता है। type एट्रिब्यूट का
    मान निम्नलिखित मानों में से कोई एक हो सकता है
  • (a) checkbox इसका प्रयोग फॉर्म पर चेकबॉक्स क्रिएट करने के लिए किया जाता है।
  • (b) password इसका प्रयोग फॉर्म पर एक ऐसा टेक्स्ट फील्ड क्रिएट करने के लिए किया जाता है, जिसमें यूज़र द्वारा टाइप किया गया। कैरेक्टर/टेक्स्ट (*) के रूप में प्रदर्शित होता है।
  • (c) radio इसका प्रयोग फॉर्म पर एक रेडियो बटन क्रिएट करने के लिए किया जाता है। रेडियो बटन का प्रयोग दिए गए मानों के एक समूह (Set) से केवल एक मान को स्वीकार करने के लिए किया जाता है, जबकि चेकबॉक्स का प्रयोग दिए गए मानों के एक समूह में से एक से अधिक मानों को स्वीकार करने के लिए किया जाता है।
  • (d) reset यह फॉर्म के सभी एलिमेण्ट्स को उनके डिफॉल्ट में वापस ले जाता है।
  • (e) submit इसका प्रयोग फॉर्म पर एक सबमिट (Submit) बटन क्रिएट करने के लिए किया जाता हैvalue इस एट्रिब्यूट का प्रयोग input एलिमेण्ट के प्रारम्भिक मान का निर्धारण करने के लिए किया जाता है।

2. option एलिमेण्ट और select एलिमेण्ट (option element and select element)

  • option एलिमेण्ट का प्रयोग select एलिमेण्ट के साथ किया जाता है। select एलिमेण्ट का प्रयोग एक ड्रॉप-डाउन मेन्यू अर्थात् आइटम्स की एक सूची बनाने के लिए किया जाता है, जिसके प्रत्येक आइटम को option एलिमेण्ट से परिभाषित किया जाता है। वास्तव में select एलिमेण्ट का प्रयोग input एलिमेण्ट की भाँति ही यूज़र से क्वेरी करने के लिए किया जाता है।

option एलिमेण्ट के एट्रिब्यूट निम्नलिखित हैं

  1.  selected यह एट्रिब्यूट सुनिश्चित करता है कि ऑप्शन प्रारम्भ में चुना हुआ होगा।
  2. value यह एट्रिब्यूट ऑप्शन के मान का निर्धारण करता है। जब यूज़र, इस ऑप्शन को चुनता है, select एलिमेण्ट उस ऑप्शन के मान को रिटर्न करता है।
  3.  multiple बाइ डिफॉल्ट यूज़र, select एलिमेण्ट के ऑप्शन्स के समूह से एक ही ऑप्शन को सलेक्ट कर सकता है। multiple एट्रिब्यूट
    यूज़र को एक-से अधिक ऑप्शन्स को सलेक्ट करने की सुविधा देता है।
  4.  name इसका प्रयोग किसी ऑप्शन को एक नाम देने अर्थात् एक आइडेन्टिफायर में एसाइन करने के लिए किया जाता है।

<select name = ‘identifier_name”>
<option> option or item string1
<option> option2 or item string2
<option> option3 or item string3
<option> option or item stringN
</select>

3. textarea एलिमेण्ट

  • इस एलिमेण्ट का प्रयोग फॉर्म पर एक-से अधिक लाइन्स को लिखने के लिए किया जाता है।
  • प्रारूप <textarea name = “value” rows = “5” cols = “10” > … </textarea>

Textarea एलिमेण्ट के एट्रिब्यूट्स निम्नलिखित हैं

  1.  cols यह एट्रिब्यूट क्रिएट किए जाने वाले टेक्स्टबॉक्स के लिए कॉलम्स की संख्या को निर्धारित करता है।
  2.  rows यह एट्रिब्यूट क्रिएट किए जाने वाले टेक्सट बॉक्स के लिए पंक्तियों की संख्या को निर्धारित करता है।
  3. name यह textarea एलिमेण्ट द्वारा क्रिएट किए गए टेक्स्टबॉक्स का लॉजिकल नेम होता है, जो यूज़र द्वारा लिखे गए टेक्स्ट को रिटर्न करता है।

नोट – दोस्तों अगर आपको मेरी अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना।

इने भी जरूर पढ़े –

Reasoning Notes And Test 

सभी राज्यों का परिचय हिंदी में।

राजस्थान सामान्य ज्ञान ( Rajasthan Gk )

Solved Previous Year Papers

History Notes In Hindi

Leave a Reply