Dadra and Nagar haveli History in Hindi

Dadra and Nagar haveli History in Hindi

दादर और नागर हवेली का परिचय ( Dadra and Nagar haveli History in Hindi )

• राज्य – दादर और नागर हवेली
• राजधानी – सिलवासा
• क्षेत्रफल – 491 वर्ग किमी०
• जनसंख्या – 3,43,709

  •  पुरुष – 1,93,760
  •  महिला – 1,49,949

• जनसंख्या घनत्व – 700 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी.
• लिंगानुपात – 774 महिलायें प्रति हजार पुरुष
• साक्षरता – 76.2%

  •  पुरुष – 85.2%
  •  महिला – 64.3%

• सीमा – गुजरात और महाराष्ट्र राज्यों से घिरा है।
• जिला – 1 (सिलवासा)
• लोकसभा सदस्य – 1
• उच्च न्यायालय – मुम्बई
• प्रथम प्रशासक – नकुल सेन
• भाषाएँ – भिलि, भिलोड़ी, गुजराती व मराठी
• शासकीय भाषाएँ – हिन्दी और अंग्रेजी
• उद्योग – बड़े उद्योगों का अभाव, जबकि छोटे पैमाने पर फर्श की टाइलें, फर्नीचर, डिटर्जेंट पाउडर, प्लास्टिक, इलेक्ट्रॉनिक, रसायन औषधि, वस्त्र इंजीनियरिंग आदि का निर्माण किया जाता है। सन् 1779 में मराठा सरकार ने ये क्षेत्र पुर्तगालियों को सौंप दिए थे। उनको 12000 रुपए का वाषिक राजस्व प्राप्त होता था।

दादर और नागर हवेली से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • सन् 1954 तक पुर्तगालियों ने यहाँ अपना शासन किया इसी वर्ष स्थानीय जनता ने अपने आपको पुर्तगाली शासन में मुक्त किया था। मुक्ति के बाद यहाँ का प्रशासन जनता द्वारा निर्वाचित प्रशासक के द्वारा लगभग आठ वर्ष तक होता रहा।
    • यह क्षेत्र 11 अगस्त, 1961 से भारत का अभिन्न हिस्सा बन गया। तब से इसे केन्द्रशासित प्रदेश का दर्जा प्राप्त है।
    • दादरा और नागर हवेली पश्चिमी तट के निकट और गुजरात व महाराष्ट्र राज्य द्वारा घिरे हुए है। ये दो पृथक भू-क्षेत्र हैं – एक, दादरा और दूसरा नागर हवेली
    • दादरा और नागर हवेली मुख्य रूप से ग्रामीण तथा जनजातीय क्षेत्र हैं। बिजली, गुजरात राज्य के बिजली बोर्ड से क्रय की जाती है। इस केन्द्रशासित प्रदेश के पूरे क्षेत्र में बिजली पहुंच गई है।
    • यहाँ दो औद्योगिक बस्तियाँ स्थापित की गई है। – प्रथम सरकारी आधार पर सिलवासा में और दूसरी सहकारी औद्योगिक बस्ती समाट में।
    • निकटतम रेलवे स्टेशन केन्द्रशासित प्रदेश के मुख्यालय सिलवासा से लगभग 18 किमी. दूर ‘वापी’ में है।
    • राज्य का निकटतम हवाई अड्डा मुम्बई है।

इने भी जरूर पढ़े –

Leave a Reply