Microsoft office power point (माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर पॉइण्ट)

Microsoft office power point (माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर पॉइण्ट)

 

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका ExamSector.Com में। दोस्तों हम इस पोस्ट में माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर पॉइण्ट के बारे में पढ़गे। दोस्तों इस पोस्ट में आपको में माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर पॉइण्ट क्या होता है और यह कैसे काम करता है। तथा इसकी क्या विशेषताएँ है। तो दोस्तों इस ही पोस्टों को पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट को पूरा visit करे।

 

Microsoft office power point (माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर पॉइण्ट) का परिचय :-

  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस पावर प्वॉइण्ट एक प्रेजेन्टेशन प्रोग्राम है, जिसे विण्डोज़ और MAC OS X कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम्स के लिए विकसित किया गया था। इसे अधिकतर बिज़नेस के लोग, शिक्षाविद् (Educaters) और प्रशिक्षण देने वाले लोग (ट्रेनर्स) प्रयोग करते हैं। इसके विक्रेता माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन के अनुसार, प्रतिदिन पावर प्वॉइण्ट से करीब 30 मिलियन प्रेजेन्टेशन्स बनाए जाते हैं
  • माइक्रोसॉफ्ट पावर प्वॉइण्ट में, टेक्स्ट, ग्राफ़िक्स, मूवीज़ और अन्य ऑब्जेक्ट्स, अलग-अलग पेजिज़ या स्लाइड्स में रखे जाते हैं। इन स्लाइड्स को प्रिण्ट किया जा सकता है, डिस्प्ले किया जा सकता है और प्रेज़ेन्ट करने वाले की कमाण्ड पर, उनमें नेविगेट भी किया जा सकता है। स्लाइड्स के मध्य ट्रांज़ीशन (Transition) को कई तरीकों से एनीमेट (Animate) किया जा सकता है और इसी प्रकार की स्लाइड्स पर, ऐलिमेण्ट्स की इमरजेंस (Emergence) को भी कई तरीकों से एनीमेट किया जा सकता है। एक प्रेजेन्टेशन के ओवरऑल डिज़ाइन को एक मास्टर स्लाइड से कण्ट्रोल किया जा सकता है। प्रत्येक स्लाइड पर टेक्स्ट तक एक्सटेंड (Extend) होने वाले ओवरऑल स्ट्रक्चर को एक आउटलाइनर का प्रयोग करके एडिट किया जा सकता है। प्रेजेन्टेशन्स को कई प्रकार के फाइल फॉर्मेट्स में सेव (Save) और रन (Run) किया जा सकता है।

पावर प्वॉइण्ट की विशेषताएँ (Features of Power Point)

एम. एस पावर पॉइण्ट को विशेषताएँ निम्नलिखित है।

(1 ) पावर पॉइण्ट 2010 संस्करण में सबसे बड़ी खूबी यह है कि इसमें यूजर, प्रेजेंटेशन के अन्तर्गत प्रयोग की जाने वाली वीडियोज और पिक्चर्स की एडिटिंग भी बड़ी सरलता से कर सकता है।

(2 ) पावर पॉइड के इस संस्करण में बनाई गई किसी भी पेजेन्टेशन को यूजर सरलता से अपने साथियों के साथ शेयर कर सकते है और उसे दुसरे सिस्टम पर भी चालू कर सकते है। इसके लिए प्रेजेन्टेशन में प्रयोग की गई अतिरिक्त फाइलों की आवश्यकता भी नहीं होती है।

(3 ) पावर पॉइण्ट 2010 से बनाई गई किसी भी प्रेजेन्टेशन मे रोजीशन और एनीमेशन को अत्यन्त सरलता से जोड़ा जा सकता है और इन सभी प्रभावों के साथ रन भी किया जा सकता है।

(4 ) पावर प्वॉइण्ट 2010 में यूजर पेजेन्टेशन के अन्तर्गत Smart Art ग्राफिक्स को भी जोड़ सकते हैं। यदि कोई स्मार्ट आर्ट, फोटो पर आधारित होती है, तो उसे भी जोड़ा जा सकता है।

(5 ) पावर प्वॉइण्ट 2010 में यूजर पेजेन्टेशन को अनेक तरीको से ब्रॉडकास्ट (Broadcast) भी किया जा सकता है।

(6 ) पावर पॉइण्ट 2010 में आप प्रेजेन्टेशन को फाइलों को नए बैकस्टेज व्यू के द्वारा मैनेज कर सकते हैं। इसका बैकस्टेज व्यू अत्यन्त शीघ्रता से प्रेजेन्टेशन को किवक गेन एक्सेस कराता है। इससे यूजर फाइलों को प्रॉपर्टी, एक्सेस परमीशन, उनकी ओपनिंग, सेविंग, पिण्टिग और शेयरिंग को तीव्रता से एक्जिक्यूट कर सकते है।

(7 ) पावर पॉइण्ट 2010 में यूजर के एक प्रेजेन्टेशन के लिए मल्टिपल ऑथर सेट कर सकते हैं, जिसके कारण उसे एक से अधिक व्यक्ति प्रयोग कर सकते हैं। इस सुविधा को को-ऑथरिंग (Co-authoring) भी कहा जाता है।

(8 ) माइक्रोसॉफ्ट शेयरप्वॉइण्ट सर्वर का प्रयोग करके लोकेशन को शेयर कर सकते हैं, जिसके कारण लोग अपनी सुविधा से कन्टेन्ट को को-ऑथर कर सकते हैं।

(9 ) पावर प्वॉइण्ट की ऑटो रिकवर और ऑटो सेव सुविधा को प्रयोग करके उन प्रेज़ेन्टेशन्स को भी पुन: प्रयोग कर सकते हैं जो बिजली जाने के कारण या वायरस से खराब हो चुके हैं। इन दोनों सुविधाओं की सेटिंग को भी अपनी आवश्यकतानुसार परिवर्तित किया जा सकता है।

(10 ) पावर प्वॉइण्ट में बनी प्रेजेन्टेशन के अन्तर्गत प्रयोग की गई स्लाइडों को तार्किक विभागों में संगठित किया जा सकता है।

(11 ) अपनी प्रेजेन्टेशन की तुलना किसी अन्य प्रेजेन्टेशन से भी की जा सकती है। इसके स्थान पर उसे किसी अन्य प्रेजेन्टेशन के साथ मर्ज भी किया जा सकता है। इसके लिए पावर प्वॉइण्ट में मर्ज एण्ड कम्पेयर (Merge and Compare) नामक फीचर होता है। मर्ज एण्ड कम्पेयर नामक सविधा उस समय बहुत ही उपयोगी होती है, जब यूज़र ई-मेल या नेटवर्किंग के माध्यम से प्रेजेन्टेशन पर अन्य लोगों के साथ कार्य करता है।

 

Leave a Reply