राजस्थान के प्रमुख आभूषण

rajasthan ke pramukh aabhushan

राजस्थान के प्रमुख आभूषण

rajasthan ke pramukh aabhushan

राजस्थानी पुरुषों के आभूषण

  • सिर के आभूषण – मुकुट, कलंगी, सिरपेच, सेहरा।
  • कान के आभूषण – मुरकी, ओगनिया, लूँग।
  • गले में पहने जाने वाले आभूषण – कंठा, चौकी या फूल ।
  • हाथ में पहने जाने वाले आभूषण – कड़ा, मूरत, ठाला, ताती, माठी।

राजस्थानी महिलाओं के आभूषण

  • सिर पर पहनने वाले आभूषण – शीशफूल, रखड़ी, बोर, हिकड़ा, मेमन्द।
  • मस्तक पर पहनने वाले गहने – बोरला, टीका, मांग टीका, सांकली, सूर मांग, दामिनी व ताबित ।
  • नाक में पहने जाने वाले आभूषण – बेसरी, नथ, चोप, लोग, फीणी, चूनी, लटकन, भंवरिया आदि।
  • कान में पहनने के आभूषण – झुमका, फूल व टॉप्स, बाली, पत्ती, सुरलिया, कर्णफूल, ऐरंग पत्ता, भूचारिया, पानड़ी, टोटी, पाटीसूलिया, ओगनिया।
  • गले में पहनने के आभूषण – झालर, कंठी, हमेल, जंजीर, हारकण्ठी, मटरमाला, ठुस्सी, मोहरन, चम्पाकली, हालरो, मंडली, हंसली (खंगाली), पंचलड़ी, तिमणियाँ, तुलसी, मोहनमाला, चन्द्रहार, हंसहार, पोत, मूठ, पातो, आड, बजण्टी, मादलिया, रामनामी।
  • कलाई पर पहनने वाले गहने – गजरा, गोखरू, चूड़ियाँ, कड़ा, चूड़ा, हथफूल, बंगड़ी, कांकनी, पूंचियो, आँवला, नौगरी।
  • बाजू पर पहनने वाले गहने – गजरा, चूड़ली, बाजूबन्द, तकया, बट्टा, हारपान व नवरत्न, ठड्डा, अनंत।
  • अंगुलियाँ में पहने जाने वाले – बीटी, अंगूठी, मूंदड़ी, अरसी, हथपान, दमणा।
  • कमर में पहनने के गहने – कंदोर/कंडोर, जंजीर, तागड़ी/तगड़ी करधनी, कणकती, सटका आदि।
  • पैरों में पहनने वाले आभूषण — कड़ा, नेवरी, आंवला, पायजेब,पायल, नंकुम, गोव्वया, फोलरी (पोलरी), बिछुड़ी, जोधपुरी जोड़, हिरना, मैन व लछने, तोरी/तोड़ी, टंणका।

इने भी जरूर पढ़े –

Leave a Reply