South indian Question Answer in Hindi

South indian Question Answer in Hindi ,

दक्षिण भारत से संबन्धित प्रश्नोत्तरी 

  • ऑनलाइन परीक्षा-प्रश्न (2016) चोलों के समय का ‘बृहदेश्वर मंदिर’ कहां स्थित है? – तंजावुर 
  • संगम साहित्य के संरक्षक कौन थे? – पांड्य 
  • महाबलीपुरम स्थित एकाश्मीय शैल मंदिरों का प्रसिद्ध नाम क्या है? – रथ 
  • नरसिंह वर्मन I , महेंद्र वर्मन I ,परमेश्वर वर्मन I एवं नंदी वर्मन में से कौन-से पल्लव राजा ने चालुक्य सम्राट राजा पुलकेशिन II को पराजित करके और उनका वध करके ‘वातापीकोंड’ का खिताब हासिल किया? – नरसिंह वर्मन I
इने भी जरूर पढ़े –  

South indian Question Answer in Hindi

1. संगम काल में रोमन व्यापार का केंद्र बताइए
(a) मदुरै
(b) अरिकमेडु
(c) पूम्पुहर
(d) मुसिरि
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013 

Show Answer

उत्तर-(b)
अरिकमेडु एक प्रसिद्ध व्यापारिक केंद्र था, जहां देश के विभिन्न भागों से व्यापारिक वस्तुएं एकत्र की जाती थीं तथा फिर यहां से रोम को जाती थीं। अरिकमेडु (पांडिचेरी) की खुदाई से रोमन द्वीप के टुकड़े, कांच के कटोरे, रत्न, मनके तथा बर्तन प्राप्त किए गए हैं। अतः स्पष्ट है कि संगम काल में अरिकमेडु रोमन व्यापार के मुख्य केंद्रों में से एक था।

2. गंगा को उत्तर से दक्षिण ले जाने वाला चोल राजा कौन-सा था?
(a) राजराजा चोल
(b) महेंद्र ।
(c) राजेंद्र चोल
(d) परांतक
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2010
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2010 

Show Answer

उत्तर-(c)
राजेंद्र चोल, गंगा को उत्तर से दक्षिण ले जाने वाला चोल राजा था।

3. चोल राजा राजेंद्र ने निम्नलिखित में से कौन-सी पदवी धारण नहीं की थी?
(a) त्यागसमुद्र
(b) गंगैकोंड
(c) मुडीकोंडा
(d) पंडित चोल
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2006 

Show Answer

उत्तर-(a)
त्याग समुद्र की उपाधि विक्रम चोल ने धारण की थी। शेष सभी उपाधियां राजेंद्र प्रथम ने अपनी विजय के विभिन्न अवसरों पर धारण की थी।

4. अधिकांश चोलकालीन मंदिर किस देवी/देवता को समर्पित
(d) दुर्गा
(a) विष्णु
(b) शिव
(c) ब्रह्मा
S.S.C. (डाटा एंट्री ऑपरेटर) परीक्षा, 2008 

Show Answer

उत्तर-(b)
अधिकांश चोलकालीन मंदिर शिव को समर्पित हैं। राजराज प्रथम द्वारा निर्मित तंजोर का वृहदीश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित था।
 

5. राष्ट्रकूटों की प्रारंभिक राजधानी निम्नलिखित में से कौन-सी थी? सी थी?
(a) सोपारा
(b) एलोरा
(c) वातापी
(d) अजंता
S.S.C.संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2015 

Show Answer

उत्तर-(*)
प्रारंभिक राष्ट्रकूट बादामी या वातापी के चालुक्यों के अधीन सामंत थे। 760 ई. में दंतिवर्मा (राष्ट्रकूट) ने चालुक्य शासक कीर्तिवर्मा द्वितीय को पराजित कर मान्यखेट को अपनी राजधानी बनाया।

6. एलोरा में कैलाशनाथ मंदिर का निर्माण किसने किया?
(a) राजेंद्र I
(b) महेंद्रवर्मन I
(c) कृष्ण I
(d) गोविंद I
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014 

Show Answer

उत्तर-(c)
महाराष्ट्र के एलोरा में कैलाशनाथ मंदिर का निर्माण राष्ट्रकूट नरेश कृष्ण प्रथम ने किया था। यह मंदिर बेसर शैली में निर्मित है।

7. एलोरा में प्रसिद्ध शिव मंदिर का निर्माण किसने करवाया था?
(a) मौर्य सम्राट अशोक
(b) गुप्त शासक समुद्रगुप्त
(c) चालुक्य राजा पुलिकेशिन II
(d) राष्ट्रकूट शासक कृष्ण I
S.S.C.संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2015 

Show Answer

 उत्तर-(d) 

8. एलोरा में गुफाएं और शैलकृत मंदिर हैं
(a) हिंदू और बौद्ध
(b) बौद्ध और जैन
(c) हिंदू और जैन
(d) हिंदू, बौद्ध और जैन
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008 

Show Answer

उत्तर-(d)
एलोरा में अवस्थित गुफाएं एवं शैलकृत मंदिरों का संबंध हिंदू, बौद्ध और जैन धर्मों के साथ है। औरंगाबाद के एलोरा में अधिकांश गुफाओं एवं शैलकृत मंदिरों का निर्माण राष्ट्रकूट शासकों द्वारा कराया गया था। 

9. निम्नलिखित में से कौन-सी पुस्तक राष्ट्रकूट के राजा अमोघवर्ष ने लिखी थी?
(a) आदिपुराण
(b) गणितसार संग्रह

(c) साकतायन
(d) कविराजमार्ग
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2014 

Show Answer

उत्तर-(d)
गोविंद तृतीय का पुत्र अमोघवर्ष धर्म और साहित्य का अनुरागी राष्ट्रकूट शासक था और उसने स्वयं कन्नड़ भाषा में ‘कविराजमार्ग’ नामक ग्रंथ लिखा था। ‘आदिपुराण’ को जिनसेन ने, ‘गणितसार संग्रह’ को महावीराचार्य ने और ‘अमोघवृत्ति’ को साकतायन ने लिखा है।

10. महाबलीपुरम् के सप्त पैगोडा किसके द्वारा संरक्षित कला के साक्षी हैं?
(a) पल्लवों
(b) पांड्यों
(c) चोलों
(d) चेरों
S.S.C. स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2008 

Show Answer

उत्तर-(a)
महाबलीपुरम् के सप्त पैगोडा, पल्लवों द्वारा संरक्षित कला के साक्षी हैं। इसका निर्माण पल्लव नरेश नरसिंह वर्मन I ने करवाया।

11. निम्नलिखित में से क्या राष्ट्रकूटों का सर्वाधिक चिरस्थायी योगदान है?
(a) कैलाश मंदिर
(b) कन्नड़ काव्य के तीन कवि पंपा, पोन्ना और रान्ना तथा कैलाश मंदिर
(c) जैनवाद का संरक्षण
(d) विजय
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2014 

Show Answer

उत्तर-(b)
कन्नड़ काव्य के कवि पंपा, पोन्ना और रान्ना के संरक्षण सहित कैलाश मंदिर का निर्माण राष्ट्रकूटों का सर्वाधिक चिरस्थायी योगदान है। राष्ट्रकूट शासक कृष्ण प्रथम ने एलोरा में ठोस चट्टान कटवा कर कैलाश मंदिर बनवाया, जो वास्तुकला का आश्चर्य माना जाता है। 

12. कौन-सा प्राचीन भारतीय साम्राज्य नीचे उसकी राजधानी के साथ गलत जोड़े के रूप में अंकित है?
(a) मौर्य-पाटलिपुत्र
(b) पंड्या-मदुराई
(c) पल्लव-वेल्लौर
(d) काकतीया-वारांगल
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2013

Show Answer

उत्तर-(c)
वेल्लौर, पल्लव वंश की राजधानी नहीं थी। पल्लव वंश की राजधानी कांची थी। शेष सभी विकल्प सही हैं।

13. किस पल्लव शासक के शासन-काल में, पल्लवों और चालक्यों के बीच लंबा संघर्ष शुरू हो गया था?
(a) महेंद्रवर्मन I
(b) सिम्हाविष्णु
(c) नरसिम्हावर्मन I
(d) महेंद्रवर्मन II
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013 

Show Answer

उत्तर-(a)
महेंद्रवर्मन I (600-630 ई.) के शासनकाल में, पल्लवों और चालुक्यों के बीच लंबा संघर्ष शुरू हो गया था।

14. पुलकेशिन II किसका महानतम शासक था?
(a) कल्याणी के चालुक्य
(b) कांची के पल्लव
(c) तमिलनाडु के चोल ।
(d) वातापी के चालुक्य
S.S.C. संयुक्त स्नातक स्तरीय (Tier-I) परीक्षा, 2013 

Show Answer

उत्तर-(d)
पुलकेशिन II का चालुक्य वंश (वातापी) से संबंध था। यह इस वंश का सबसे प्रतापी राजा था। इस वंश की स्थापना जय सिंह ने की थी।

15. निम्न में से कौन-सा शिलालेख चालुक्य सम्राट, पुलकेशिन II से संबंधित है?
(a) मासकी
(b) हाथीगुम्फा
(c) एहोल
(d) नासिक
S.S.C.संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2013 

Show Answer

  उत्तर-(c)
एहोल शिलालेख, चालुक्य सम्राट पुलकेशिन द्वितीय से संबंधित है। यह लेख एक प्रशस्ति के रूप में है तथा इसकी भाषा संस्कृत है। इसकी लिपि दक्षिणी ब्राह्मी है। इस लेख की रचना रविकीर्ति ने की थी। हर्षवर्धन के साथ पुलकेशिन द्वितीय के युद्ध पर भी यह लेख प्रकाश डालता है। प्रशस्ति के अंत में लेखक ने यह दावा | किया है कि उसने इसे लिखकर कालिदास तथा भारवि के समान यश प्राप्त किया है। 

16. रविकीर्ति, जो एक जैन थे और जिन्होंने एहोल प्रशस्ति की रचना की थी, को किसका संरक्षण प्राप्त था?
(a) पुलकेशिन I
(b) हर्ष
(c) पुलकेशिन II
(d) खारवेल
S.S.C. संयुक्त हायर सेकण्डरी (10+2) स्तरीय परीक्षा, 2014 

Show Answer

उत्तर-(c)
एहोल प्रशस्ति के रचनाकार रविकीर्ति जैन कवि था और इसको चालुक्य शासक पुलकेशिन द्वितीय का संरक्षण प्राप्त था। इसने एहोल अभिलेख में पुलकेशिन द्वितीय की विजयों का विस्तृत विवरण दिया था।
 

17. पश्चिमी चालुक्य वंश का प्रसिद्ध शासक कौन था?
(a) पुलकेशिन II
(b) पुलकेशिन I
(c) रविकीर्ति
(d) मंगलेश
S.S.C. मल्टी टास्किंग परीक्षा, 2013 

Show Answer

उत्तर-(a)
पुलकेशिन II, पश्चिमी चालुक्य वंश का सबसे प्रतापी राजा था। पुलकेशिन द्वितीय ने हर्षवर्धन को हराकर ‘परमेश्वर’ की उपाधि धारण की थी।
 
18. महाबलीपुरम् में रथ मंदिरों का निर्माण किस पल्लव शासक के शासनकाल में हुआ था?

(a) महेंद्रवर्मन प्रथम
(b) नरसिंहवर्मन प्रथम
(c) परमेश्वरवर्मन प्रथम
(d) नंदीवर्मन प्रथम
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008 

Show Answer

उत्तर-(b)
महाबलीपुरम् में रथ मंदिरों का निर्माण नरसिंहवर्मन प्रथम के शासनकाल में हुआ था। रथ मंदिरों में द्रोपदी रथ, भीम रथ तथा युधिष्ठिर रथ प्रसिद्ध थे।

19. निम्नलिखित में से किस चोल राजा ने लंका (सिंहल) को पहले जीता था?
(a) आदित्य प्रथम
(b) राजराज प्रथम
(c) राजेंद्र
(d) विजयालय
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2008 

Show Answer

उत्तर-(b)
चोलों द्वारा श्रीलंका एवं दक्षिण-पूर्व एशिया को जीता गया था। चोल शासक राजराज प्रथम ने सिंहल पर आक्रमण कर उसके उत्तरी हिस्से पर अधिकार कर लिया जबकि संपूर्ण सिंहल तथा दक्षिण-पूर्व एशिया की विजय का श्रेय राजेंद्र प्रथम को दिया जाता है। दक्षिण-पूर्व एशिया के श्रीविजय (शैलेंद्र) राज्य के अंतर्गत मलय प्रायद्वीप, जावा, सुमात्रा तथा अन्य द्वीप सम्मिलित थे। मालदीव की विजय का श्रेय राजराज प्रथम को प्राप्त है।

20. किस चोल शासक ने श्रीलंका के उत्तरी भाग को जीतकर अपने साम्राज्य का एक प्रांत बनाया था?
(a) परांतक
(b) राजेंद्र प्रथम
(c) राजराज
(d) अधिराजेंद्र
S.S.C. मैट्रिक स्तरीय परीक्षा, 2006 

Show Answer

उत्तर-(c)

इने भी जरूर पढ़े –

Leave a Reply