भौतिकी क्या है? भौतिकी विज्ञान की प्रमुख शाखाएं

bhautik vigyan kya hai hindi mai

 भौतिकी क्या है? ( What is Physics ) भौतिकी विज्ञान की प्रमुख शाखाएं

bhautik vigyan kya hai hindi mai

 भौतिकी क्या है?

  • प्राचीन काल से “भौतिक” शब्द का प्रयोग संस्कृत वेदों में किया जाता है। जिसका अभिप्राय है प्राकृतिक । इसी से भौतिकी शब्द की उत्पत्ति हुई है। शब्द ‘Physics’ ग्रीक शब्द ‘fusis’ से बना है जिसका अभिप्राय है प्रकृति (nature)। भौतिक विज्ञान को निम्न प्रकार परिभाषित किया जा सकता है

“भौतिक विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जो प्रकृति तथा प्राकृतिक घटनाओं की व्याख्या करती है।”

(The branch of science which is devoted to the study of nature and natural phenomena is called ‘physics’).

  • दैनिक जीवन में होने वाली अनेक प्राकृतिक घटनाओं जैसे वर्ष के मौसम, बादलों का बनना, वर्षा का होना, चन्द्र तथा .सूर्य ग्रहण आदि की व्याख्यायें भौतिक विज्ञान के आधार पर दी गई है। भौतिक विज्ञान के अनुसार

“भौतिक विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जिसमें द्रव्य, ऊर्जा के विभिन्न स्वरूपों तथा द्रव्य से उनकी अन्योन्य क्रियाओं का अध्ययन किया जाता है।”

(Physics is that branch of Science in which we study matter, all forms of energy and their interaction with matter.)

  • द्रव्य (matter)-द्रव्य, प्रत्येक वह वस्तु है जिसमें द्रव्यमान होता है, जो स्थान घेरती है (आयतन) तथा जिसका अनुभव प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से ज्ञानेन्द्रियों द्वारा किया जाता है।
  • उदाहरण-लोहा, पानी, वायु आदि।
  • ऊर्जा (Energy)-किसी वस्तु की कार्य करने की क्षमता (ability) को ऊर्जा कहते हैं। आइन्सटाइन (Einstein) के अनुसार-द्रव्य तथा ऊर्जा मूल रूप से एक ही राशि है तथा इन्हें परस्पर रूपान्तरित किया जा सकता है अर्थात् द्रव्यमान को ऊर्जा में तथा ऊर्जा को द्रव्यमा में रूपान्तरित किया जा सकता है। द्रव्य तथा ऊर्जा में सम्बन्ध ऊर्जा = द्रव्यमान x (निर्वात में प्रकाश की चाल)2
  • → E = mc2

भौतिक विज्ञान की नवीनतम परिभाषाः-

“भौतिक विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जिसमें ऊर्जा, द्रव्यमान, उनकी अन्योन्य क्रियाओं तथा रूपान्तरण का अध्ययन किया जाता है।”

(Physics is that branch of Science in which we study matter, energy, their interaction and transformation)

भौतिक विज्ञान का कार्यक्षेत्र तथा उत्तेजना

भौतिकी की विभिन्न शाखाओं को मुख्यतः दो भागों में विभाजित किया गया है-

  • (a) चिरसम्मत भौतिकी (Classical physics) तथा
  • (b) आधुनिक भौतिकी (Modern physics)

(a) चिरसम्मत भौतिकी (Classical physics)

  1.  यांत्रिकी (Mechanics)-इस विषय के अन्तर्गत वस्तुओं की (निम्न वेगों पर) व्यवस्थित गति का अध्यान किया जाता है। इसकी एक शाखा तरल यांत्रिकी (fluid mechanics) है जिसमें तरल (द्रव तथा गैस) के गतिक व्यवहार का अध्ययन किया जाता है।
  2.  ऊष्मागतिकी (Thermodynamics)-इस विषय के अन्तर्गत ऊष्मा, ताप तथा सूक्ष्म कणों से बने निकाय में गति का अध्ययन किया जाता है।
  3.  विद्युत-चुम्बकत्व (Electromagnetism)-इस विषय के अन्तर्गत विद्युत, चुम्बकत्व तथा विद्युत चुम्बकीय तरंगों के सिद्धान्तों का अध्ययन किया जाता है।
  4.  चिरसम्मत तरंग यांत्रिकी तथा ध्वनि (Classical wave mechanics and sound)-इस विषय के अन्तर्गत कम्पनों व प्रगामी व अप्रगामी तरंगों का अध्ययन किया जाता है।
  5. प्रकाशिकी (Optics)-इस विषय के अन्तर्गत प्रकाश की प्रकृति तथा संचरण का अध्ययन किया जाता है। लैंस तथा दर्पणों के माध्यमों से बनने वाले प्रतिबिम्बों, अपवर्तन (refraction), परावर्तन (reflection), व्यतिकरण (interference), विवर्तन (diffraction) तथा ध्रुवण (polarization) को समझने के लिए इस विषय का ज्ञान होना आवश्यक है।

(b) आधुनिक भौतिकी (Modern physics)

  1. आपेक्षिकता (Relativity)-इस विषय के अन्तर्गत उन पिण्डों की गति का अध्ययन किया जाता है जो प्रकाश के वेग के तुल्य वेग से गति करते हैं। वास्तव में यह प्रकृति में सापेक्षवाद का सिद्धान्त है।
  2. क्वाण्टम यांत्रिकी (Quantum mechanics)-इस विषय के। अन्तर्गत आधुनिक भौतिकी के सिद्धान्तों, प्रकाश तथा द्रव्य की द्वैत (dual) प्रकृति का अध्ययन किया जाता है। यह चिरसम्मत भौतिकी व आधुनिक भौतिक के मध्य एक सेतू का कार्य करती है।
  3. परमाणु भौतिकी (Atomic physics)-इस विषय के अन्तर्गत परमाणु संरचना तथा परमाणु के गुणों के बारे में अध्ययन किया जाता है।
  4. नाभिकीय भौतिकी (Nuclear physics)-इस विषय के अन्तर्गत परमाणु के नाभिक तथा उसके गुणों का अध्ययन किया जाता है। इसके अतिरिक्त कुछ अन्य विषय निम्न प्रकार है
  • (i) ठोस अवस्था भौतिकी (solid state physics)
  • (ii) प्लाज्मा भौतिकी (Plasma physics)
  • (iii) उच्च ऊर्जा भौतिकी (High energy physics)
  • (iv) इलेक्ट्रोनिक्स (Electronics)
  • (v) अभियांत्रिकी भौतिकी (Engineering physics)
  • (vi) चिकित्सीय भौतिकी (Medical physics)
  • (vii) ब्रह्मांडिकी (Cosmology)
  • (viii) जीव भौतिकी (Bio physics)
  • (ix) रासायनिक भौतिकी (Chemical physics)
  • (x) भू–भौतिकी (Geo-physics)

इने भी जरूर पढ़े – 

 

Leave a Reply